Story in hindi Story of hindi : Bulleshaah ka Nachna -

Story in hindi Story of hindi : Bulleshaah ka Nachna

Story in hindi Story of hindi : Bulleshaah ka Nachna

बुल्ले शाह का नाचना

जग में जीवणा थोड़ा राम, कुण करे रे जनजार।
मीरा के प्रभु गिरधर नागर , भज उतरो भाव पार।- मीरा बाई

बुल्ले शाह मुसलमान सैयद फकीर हुई है जो पंजाब में रहते थे और अपना बहुत सा समय खुदा की इबादत में गुजारते थे। अक्सर उनकी आलोचना की जाती थी क्योंकि वह अपने ऊंचे कुल की धार्मिक मर्यादा के अनुसार नहीं चलते थे और ना ही कट्टर रीति-रिवाजों का पालन करते थे।

Story in hindi Story of hindi : Bulleshaah ka Nachna Story in Hindi हिंदी कहानिया Story of Hindi In hindi story hindi story story hindi hindi kahani

जब उन्हें दुनिया तंग करने लगी तो उन्होंने गधे ले लिए ताकि दुनिया उनसे और भी ज्यादा नफरत करने लगे। संतो की लीला संत ही जानते हैं। कहते हैं कि एक बार एक औरत को एक मुसलमान हाकिम जबरदस्ती अपने घर ले गया। जब उसके पति की पुकार किसी ने ना सुनी तो  उसे किसी ने कहा कि बुल्ले शाह एक कामिल फकीर है तू जाकर उनकी मिन्नत कर।

Story in hindi Story of hindi : Bulleshaah ka Nachna

वह जब बुल्लेशाह के पास गया तो उन्होंने कहा जा शहर में देख कहीं तबला सारंगी बजते हैं? एक जगह हिजड़े गा रहे थे देखा और आकर बुल्ले शाह को खबर दी। बुल्ले शाह ने कहा ठीक है आओ और मेरे गधे पर बैठ जाओ । हम दोनों वहां चलते हैं। बुल्ले शाह उनमें जा मिले और नाचने लगे।

जब मस्ती में आए तो उन्होंने पूछा कि वह हकीम कहां रहता है? वह कहने लगा कि शहर के अमुक तरफ खज्जी वाला बाघ अंबा वाली बगीची में रहता है तब बुल्ले शाह ने तवज्जो देते हुए यह-

अम्बावाली बगीची सुनिदी, खज्जिया वाला बाग़।
खोतिया वाले सद्द बुलाई, सुत्ते ऐ ते जाग।
चीनी इ छड़ीदा यार! चीना इ छड़ीदा 

In hindi story: Kabir das ka chamatkaar

 बुल्ले शाह के कहने की देरी थी की वह औरत बेतहाशा खींची चली आई क्योंकि उस मुसलमान हाकिम का घर वहां से नजदीक ही था जहां वे हिजड़े नाच रहे थे बुल्ले शाह ने कहा भाई जा अपनी पत्नी को ले जा और उसे संभाल कर रखना। बुल्ले शाह ने मस्ती में फिर उसी तरह नाचना शुरू कर दिया।

उधर बुल्लेशाह के बाप को लोगों ने बता दिया कि अभी तक तो तेरे बेटे ने गधे पाल रखे थे अब उसने हिजड़ो के साथ नाचना भी शुरू कर दिया है सय्यदों की इज्जत खूब बर्बाद करने लगा है। बुल्ले शाह के बाप ने एक हाथ में लाठी पकड़े दूसरे में माला और वहां जा पहुंचा बुल्ले शाह ने जब देखा कि बाप आ रहा है दिल में आया कि आज यह भी खाली ना जाए। तवज्जो देकर गाने लगा :

लोका दे हत्थ मालिया ते बाबे दे हत्थ माल।
उमर ते पिट पिट कर मर गया खुस न सक्या वास।
चीना इ छड़ीदा यार! चीना छड़ीदा।  

बाप भी मस्ती में आकर नाचने लगा और अंदर पर्दा खुल गया। हाथ से माला छोड़ दी और कहा 

पुत्तर जिन्हा दे रंग रंगीले, मापे वी लैंदे तार।  

चीना इ

In hindi story ( हिंदी कहानियां) Badshah fakir aur Wazir

Story of Hindi Parashar Rishi aur ladki

Story of Hindi Sant daduji Fakir aur Pandit

In hindi story: Kabir das ka chamatkaar

Story in Hindi : Tusli Sahib Aur Mahila

Hindi kahania : Story in hindi महात्मा ख्वाजा हाफिज

Story in hindi shahjahan medhak aur hans

Story in Hindi: hindi kahani Fakir Aur Shahukaar

A hindi story with moral : story in hindi Khajooro ki chaah

Story in hindi story of hindi: Sant sangati ki mahima

Hindi Story story of hindi  :(हिंदी कहानिया )Guru nanak aur shahukar

Story in hindi (हिंदी कहानी ) Kabir aur Badshah