Gulzar shayari gulzar shayari in hindi

Gulzar shayari- दोस्तों इस शायरी में आपको जीवन के बहुत सारे अनुभव सीखने को मिलेंगे। gulzar shayari ko gulzar poetry ya gulzar poems  के नाम से भी जानते हैं। आपको गुलजार शायरी पढ़नेेे के बाद ऐसे मंत्र मिल जाएंगे जो असली और नकली की पहचान करने में मदद करेंगे।

गलती करना और गलत करना यह दोनों अलग-अलग बातें हैं

माफी गलती की होती है गलत करने की नहीं।

खाना हो या मोहब्बत अगर किसी को ज्यादा मिल जाए
तो वह अधूरा छोड़ कर चला जाता है।

जो तुम्हारा साथ दे उसे साथ में रखो
धोखेबाज को हमेशा औकात में रखो।

अक्सर सोचते ही लोग हमारी जिंदगी में आकर
महंगे से महंगे सबक दे जाते हैं।

भला वो बुलंदी भी किस काम की जनाब
जहां इंसान चढ़े मगर इंसानियत उतर जाए।

ek mard chaahe kitana hee khush ho magar jab vah akela hota hai usee aurat ko yaad karata hai jisase vah dil se pyaar karata hai.

हालातों ने खो दी इस चेहरे की चमक
वरना जहां बैठते थे रौनक ला देते थे।

अपनी ही तलाश में निकले हुए थे हम
वरना तुम्हारी गली में कभी नहीं आते।

महंगे तोहफे मुझको पसंद नहीं है जनाब
जब अगली बार आओ वक्त लेकर आना।

yahaan har koee khabar rakhata hai gairon ke gunaahon kee
Magar phitarat hai ki koee aaeena nahin rakhata.
bas yahi daud hai aajakal ke insano kee teri devaar se uchee meri devaar bane .

hakekat mein khamoshi kabhi chup nahin rahati
kabhi tum gaur se sunana bade kisse sunaati hai.
saahab yahi to khasiyat hai is jindagi ke ki vah karj bhee chukaane padate hain jo kabhee lie hee nahin।

ab dar sa lagane laga hai un logon se jo hamesha kahate the mera yakeen to karo main tumhaare saath hoon.

कुछ इस अदा से तोड़े हैं ताल्लुक उसने
एक मुद्दत से ढूंढ रहा हूं मैं कसूर अपना।

बड़ी मुश्किल से सुलाया है अपनी आंखों को मैंने
अपनी आंखों को नए ख्वाब का लालच देकर।

jaruri nahi ki kuchh todne ke lie patther hi mara jae andaj badal kar bolane par bhi bahut kuchh tut jata hai.

जो रोज ढूंढता हो तुम्हें भूल जाने के तरीके
तुम खुद उससे खफा होकर उसकी मुश्किल आसान कर दो।

tumhara pyar tumhare alaava aur kis kis se bat karata hai isako janane ka sabase aasan tareeka yah hai kee usase vahee baaten dobara puchho jo usane tumase pahale batai hai kyonki agar vah aur kisee se bat karega to usakee pahale bataen hee baaton mein aur ab batae huibaaton mein fark jarur hoga.

याद रखना कि जो रिश्ता सिर्फ मतलब का होगा
उस रिश्ते की याद भी मतलब क्यों वक्त आएगी।

kahaan chhupa ke rakha apane hisse kee sharaaphat jidhar bhee dekhata hoon beeemaan khade hain.

अगर गुनाह अपने हो तो खामोशी छा जाती है

मगर दूसरे के हो तो बहुत शोर होता है।

बात उसकी सही है ना उसके बराबर करना था

क्योंकि उस तक पहुंचने के लिए मुझे बहुत गिर ना पड़ता।

याद रखना कि यह शहर धोखे बाजो का है

यहां गले से लगाकर दिल निकाल लेते।

नसीहत करने का भी जनाब सब का अपना तरीका होता है

कोई सब कुछ कह देता है और कोई खामोश हो जाता है।

जुदा होने के बाद भी अगर किसी शख्स को तुम भुला नहीं पाए तो इसकी वजह सिर्फ प्यार नहीं बल्कि वह  लगाव है जो उस शख्स के सिवा और किसी से नहीं है।

जब कभी भी लगे कि तुम अकेले हो

तो एक दफा आईना देख कर मुस्कुरा लिया करो।

phikr bata rahee hai ki mohabbat abhee jinda hai phaasalon se kah do khud par gurur na karen.

सुना है वह चला गया है मेरा शहर छोड़ कर
अगर यह सच है तो अब भी यहां उसकी महक क्यों आती है ।

बड़ा खूबसूरत सा रिश्ता है उसका और मेरा
ना उसने कभी बांधा ना मैंने कभी छोड़ा।

अभी जरूरी तो नहीं कि वह भी मुझे चाहे
मैं तो इश्क हूं एक तरफा भी हो सकता हूं।

na jaane kaun sa aansoo mera raaj khol de main is khayaal se najaren jhukae rahata hoon.

एक लड़की को अपने प्यार की याद आए या ना आए
मगर उस लड़के की याद हर वक्त आती है
जिसने जिंदगी के हर मोड़ पर उस लड़की का साथ दिया हो और उसकी इज्जत की हो।

 

खलती है मेरी खूबसूरती भी उन लोगों को
जो कभी मुझे करीब से निहारा करते थे।

हर कदम पर नए नए सांचे में ढल जाती हैं
देखते ही देखते लोग कितना बदल जाते हैं।

ना जाने कब उतरेंगे इस जिंदगी की लहरों से
थोड़ा संभलते हैं मगर फिर डूब जाते हैं।

मायने बदल गए हैं आजकल रिश्तो के
अब बिना किसी वजह के बात ही नहीं होती।

बहुत तकलीफ होती है जब समझने वाला ही हमारे अंदर की तकलीफों को नहीं समझता ।

साहब यकीन तो सबको झूठ पर ही होता है
सच को तो अक्सर साबित करना पड़ता है।

उस इंसान से लड़ना भी प्यार की निशानी होती है
जो लड़ने के बाद अक्सर यह कर देता है कि सॉरी गलती मेरी थी।

मैं उसके वादे का अब भी यकीन करता हूं
जिस शख्स को हजार बार आजमा लिया मैंने ।

जाने  क्या सोच कर उसे आवाज ना दी मैंने
वरना तन्हाई तो इतनी थी कि दम घुटता था।

नहीं लगेगा उसे देखकर मगर वह खुश हैं
मैं खुश नहीं हूं मगर देखकर लगेगा नहीं।

बात यह नहीं कि मैं उससे नाराज था
बात तो यह है कि उसने मुझे नाराज ही रहने दिया।

तुम कितनी ही शिद्दत से रिश्ते निभा लो साहब
मगर जिन्हें बदलना होता है वह बदल ही जाते हैं।

ब्रेकअप के बाद भी अगर कोई तुम्हारी फिक्र करता है तो समझ लो वह इंसान
सिर्फ तुम्हारा प्यार नहीं चाहता बल्कि जिंदगी भर के लिए तुम्हारा साथ चाहता है।

कभी अगर फुरसत मिले तो अपनी कमजोरियों पर गौर करना
दूसरों का आईना बनने की ख्वाहिशें मिट जाएगी।

is baar yah saal bhi kitana ajeeb sa nikala kisi ke sapane le gaya kisi ke apani le gaya.

takaleeph yah nahin ki kismat ne mujhe dhokha diya mera yakeen tum par tha kismat par nahin

kisi ko kho kar bhi sirph usi ko chahate rahana har kisi ke bas ki baat nahin hoti.

किस-किस से किए हैं तुमने वादे मोहब्बत के
हर गुजरता हुआ शख्स तुम्हारा ही पता पूछता।

शीशा टूटे और बिखर जाए वही बेहतर है
क्यों कि दरारे न जीने देती है ना मरने देती है ।

बिछड़ते हुए अगर तुम्हारा प्यार मुड़ कर देख ले
तो समझ लो की मुश्किलें अब और बढ़ने वाली है।

61a4180efe51789cfb52cfc04f62ec071908ba9f
error: Content is protected !!